Tuesday, 12 August 2014

haiga .. भ्रमर

  ___________   इंसान  की अपनी प्रकृति है !उसका अपना जुडाव है प्रकृति से !
______________ पर नजदीकियां बनाने की कोशिश में वो प्रकृति से दिनोदिन  दूर हो रहा है !फूल कागज़ी और खुशबू ' परफ्यूम ' की शीशी में बंद !...... ज्यादा हुई चाहत / तो चार गमले ! ऐसे में कैसी तितली और कैसे भ्रमर ....
____________ अभी भी मौका है / हम चाहें तो ठहर सकते हैं .... लौट सकते हैं ...