Thursday, 18 December 2014

oh / m sry 2 say ..पाक / नापाक
















 ________________________________________
बेअदब /  बेउसूल  / नापाक !
सलीका नहीं / जिस कौम को !
ज़ख्म देना / जिसे बस आता है .

उस मुल्क में /  जनमे /पाक !
फ़रिश्तों को / बेसबब !
ख़ुदा / यूँ ही उठाता है . 
--------------------------------------- ना / मै निर्मम नहीं हूँ ! ये मेरी नहीं इस देश की अवाम की आवज़ है ! fb की तमाम post और  कॉमेंट्स / इस बात का प्रमाण  हैं . 
____________ न्यूज़  देखकर दंग हूँ / नापाक , भारत पे , अंगुली उठा रहे हैं ! और हम उन मासूम / बेगुनाह / निर्दोष , बच्चों का सोग मना रहे हैं !
---------------------------------- इन पापियों का / कर्म -फल था ये हादसा ?