Wednesday, 20 November 2013

कबीर / ग़ालिब /भाग 1


*******************************************
* कबीर और ग़ालिब , समकालीन  नही  थे ! 
* उनकी तुलना  का तो सवाल  ही  नही उठता !
 * फिर भी जब हम ' सुबह - शाम ' कहते  हैं , 'रात -दिन ' कहते  है !'अमीर -गरीब' कहते  हैं ! ' नवीन - प्राचीन ' कहते हैं !............................. बस / इसी तर्ज़ पे मैने जब 2 खयाल एक साथ आए, तब कहाँ तक ज़ब्त करती  ख़ुदको ? और  आख़िर  क्यूँ ?
तो लिख डाला ' कबीर - ग़ालिब  चालीसा ' अभी 6 , बाकी इसके बाद क्रमश : 
thnx 
                                            डॉ . प्रतिभा स्वाति 
******************************************  


*******************************************

*******************************************