Wednesday, 26 March 2014

पंछी


  %%%%%%%%%%%%%%%%%%%

पंछी  /  उड़ना  जानता  है :)
रोज़ नापता / छूता फ़लक है !
नीड़ / अम्बर में नहीं बनाता ,
ये ज़मी से जुड़ने की ललक है :)
--------------------------------------- डॉ. प्रतिभा स्वाति

%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%