Thursday, 25 September 2014

इमाम मेहँदी / मुर्दाबाद


_______________________________________________________

    हिन्दुस्तान की ज़मी धन्य है / जहाँ हर मज़हब को दिल से इज्ज़त और अधिकार समान रूप से बख्शे गए हैं !________ऐसे में कोई इमाम /ऐसा बयान दे / तब..... ?
________________ पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर / सज़ा की ओर धकेला है ? ये सज़ा , ऐसे मुज़रिम के लिये ,फ़िलहाल तो एक मुकम्मल , हिफ़ाजत साबित हुई है !
______________ यदि भारत के मुस्लिम ,देश के प्रति और इस्लाम के प्रति ,ज़रा भी वफ़ादार हैं, तो उसे उस सज़ा से नवाज़ें / जो काफ़िर के लिये ,उनके मज़हबी सरपरस्तों ने तय की है !___________ कानून उठाएगा कदम ! वोटों की राजनीति ,हर जगह उचित है ?
___________ वैसे इमाम मानसिक रोगी हैं ? आख़िर अब वे ख़ुद समाज से क्या उम्मीद रखते हैं ?________________जयहिंद