Saturday, 28 September 2013

apni twitter id se


---------------------------------------
लौटती नहीं
कह डाली जो बात बीती वो रात ----------------------------
इन्द्रधनुष ! सतरंगी सपने ! मेरे अपने ! ------------------------
लेखन कर्म ! बहुत ही कम लोग ! जानते मर्म ! -----------------------
खूबसूरत ! कोई ख़्वाब तो बुन ! ज़िन्दगी सुन !
-------------------------------
'मैं ' अह्म्भाव ! ' वो ' बड़ी बुरी बला ! ' तू ' नहीं मिला ! ( ईश्वर )
-----------------------------------
तन नश्वर ! नाम रहता याद ! प्राण अमर !
----------------------------------

रुठते जाते ! ये , सफ़र है , साथी ! छूटते जाते ! ------------------------- ye ve haiku hn / jo mere dwara twitter par diye ja chuke hn / thnx 
------------------------------------ Dr. prtibha sowati