Monday, 3 February 2014

हाइकू के बारे में ....



हाइकू ---------
              जिस तरह हिन्दी में / काव्य को व्याकरण की धार पर परिष्कृत किया गया ! उसी तरह आम आदमी की समझ के लिए सरलतम शब्दों में हाइकू को परिभाषा देने के लिए ह्म कह सकते है कि ------(इसमें आधे अक्षर को गिनती में शामिल नहीं किया जाता है )

                         "हाइकु कविता को भारत में लाने का श्रेय कविवर रवींद्र नाथ ठाकुर को जाता है।
"भारतीय भाषाओं में रवींद्रनाथ ठाकुर ने जापान-यात्रा से लौटने के पश्चात १९१९ में 'जापानी-यात्री' में हाइकु की चर्चा करते हुए बंगला में दो कविताओं के अनुवाद प्रस्तुत किए·---------

1------ यह जापान में विकसित विधा है .
2-------इसमें 17 अक्षर होते है
3------ इनका क्रम 5-7-5 होता है
4------यदि इसके साथ चित्र भी हो , तब इसे ' हाईगा ' कहा जाता है .
5--------इसकी हर लाइन पूर्ण हो / आपस में सम्बद्ध /सार्थक हो
-------------------------------------------- आज इतना ही / शेष फिर
----------------------------------------------------------------------------------------------------------------- डॉ. प्रतिभा 'स्वाति '



   -------