Saturday, 6 December 2014

Pratibha dwivedi

__
___________________
उर में समन्दर !
और प्यास  गहरी .
ज्वार - सी पीड़ा उठी ,
वेदना प्रहरी !
______________________ डॉ. प्रतिभा स्वाति
_______________________