Saturday, 30 November 2013

हाईगा/ धर्म ...

%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%
  ****************************************
        हाइकू  का  सम्बन्ध आस्तिकता  से  है !

      प्रक्रति  से  है !

    संवेदना  के  सम्प्रेषण से है !

        सौन्दर्य  के  संचार  से  है !

         संस्क्रति  और  संस्कार  से है !

         हाइकू  सकारात्मक  हो ... !
---------------------- मात्र  17  अक्षर को / 3 लाइंस में सजा देना / न सिर्फ़ इस  विधा  के साथ  अन्याय है ,अपितु  हमारी  रचना - धर्मिता पर भी एक प्रश्नचिन्ह  स्वत: ही लग जाता   है ! उसमे  कहीं तो , कोई लय हो ! संदेश  हो ! तभी ' हाइकू ' सार्थक  है ! और ' हाइकूकार ' सामर्थ्यवान !
----------------------------- डॉ . प्रतिभा स्वाति
%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%
 %%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%