Saturday, 10 May 2014

चोका : मिस यू मां




 
 दो ही बातें हैं !
वो होती तो क्या होता ?
न होती तो क्या ?

बह रही हैं अभी !
आंसू बनके !
गुज़र रहे दिन !
यूँ जीवन के !

खोजती सितारों में !
मैं बार -बार !
पर सब बेकार !

तेरी कमी खलती !
बस हाथ मलती !
----------------------------- डॉ. प्रतिभा स्वाति